शेर के अहंकार(घमंड) की रोचक कहानीं

No Comments

घमंडी शेर की रोचक कहानी:


घमंडी शेर की रोचक हिंदी कहानीं


खुद पर गर्व करो घमंड नही:

एक किसान के पास एक गाय थी जो रोज चारा चरने जंगल जाती थी और शाम को किसान के घर आ जाती थी। एक गाय घास चरते चरते घने जंगल मे चली गयी गाय को पता ही नहीं चला वो कितनी दूर आ गयी हैं। जब गाय को लगा कि वह काफी दूर आ चुकी हैं तो उसने वापिस घर के लिए आना शुरू कर दिया। थोडा सा वापिस आने पर रास्ते मे एक शेर ने गाय को देख लिया।
गाय शेर को देखकर डरने लगी। और गाय के पास जंगल के अन्दर जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं था। गाय जंगल के और अंदर चली गयीं। आगे तालाब था। शेर ने सोचा अब गाय कहा जायेगी जैसे ही गाय तालाब मे जाएगी उसे जाकर पानी मे पकड लूगाँ।
और थोडी दूर बैठकर गाय का पानी मे जाने का इन्तजार करने लगा। गाय के पास भी को दूसरा उपाय नहीं था। गाय धीरे धीरे तालाब मे जाने लगी। तालाब मे पानी कम और कीचड ज्यादा थी। गाय थोडी अंदर चली और कीचड मे धस गयी गाय कुछ नहीं कर पा रही थी। और थककर कीचड मे ही खडी हो गयीं। अब शेर को मौका मिल गया गाय को पकडने का और शेर तालाब के पास आया
और जोर से गाय की तरफ तालाब मे छलांग लग दी। शेर को भी मालूम नहीं था कि तालाब मे पानी कम और कीचड ज्यादा है। और जोर से छलांग लगाने की वजह से शेर और कीचड के अन्दर धस गया। अब गाय और शेर दोनो लाचार थे कोई सा भी कुछ नहीं कर पा रहा था। फिर गाय ने शेर से कहा आपका कोई मालिक है जो आपको यहां से बाहर निकाल सके। यह सुनकर शेर को गुस्सा आ गया।
और जोर से दहाड़ मारकर बोला मेरा कौन मालिक होगा। मै खुद जंगल के सभी जानवरो का राजा हूँ। मुझे किसी की क्या जरूरत। थोडी देर बाद शेर का गुस्सा कम हुआ। फिर शेर गाय से कहा लेकिन तुमनें ये क्यों पूछा कि मेरा कोई मालिक है या नही। गाय ने कहा कि मेरा मालिक एक किसान हैं जो शाम होते ही मुझे खोजेगा और मुझे ढूढंकर मुझे तो यहां से निकाल लेगा।
लेकिन तुम्हें कौन निकालेगा। और शाम होते ही किसान गाय को ढूढंते हुए तालाब तक पहुंच गया और गाय को बाहर निकाल लिया। और शेर तालाब मे फसा रहा और मर गया।

ये कहानी हमें सिखाती है कि हमे शेर की तरह घमंड मे नही रहना चाहिए कि मै किसी पर भी निर्भर नही हूँ। क्योंकि हमे कभी न कभी किसी दूसरे व्यक्ति की आवश्यकता जरूर होती हैं। आत्मनिर्भर होना बहुत अच्छी बात है लेकिन हमे ये घमंड नही होना चाहिए कि हमे किसी की भी जरूरत नहीं है। ये हमारा अहंकार है जो हमे शेर की तरह मुश्किल मे डाल देता है जहाँ से निकलना बहुत मुश्किल हो जाता हैं। इसलिए हमे खुद पर गर्व होना चाहिए न कि घमंड।
कहानी अच्छी लगे तो शेयर जरूर करें
धन्यवाद!!

Related Posts



0 comments

Post a comment