जीत आपकी किताब का सारांश शिव खेडा | Jeet Aapki Book Review In Hindi

जीत आपकी रीड ऑनलाइन रिव्यू इन हिंदी, शिव खेडा जीत आपकी किताब का सारांश, Jeet Aapki You Can Win Shiv Khera Book Review In Hindi
You Can Win जीत आपकी शिव खेडा यह किताब शिव खेडा के द्वारा लिखित एक बहुत ही अच्छी किताब हैं। इस किताब को हर किसी को जरूर पढना ही चाहिए। इससे हमें बहुत कुछ जानने को मिलता हैं। इस किताब को पढ़कर हमें सिखने को मिलता है कि  हमारी सोच ही हमें आगे ले जाती हैं और अपनी सोच की वजह से ही हम जीवन मे पीछे रह जाती हैं। ये एक बहुत अच्छी मोटिवेशनल किताब हैं जिसमे कहानीं के जरिये समझाने का प्रयास किया गया है कि किस तरह इंसान के जीवन मे ऊतार चढाव आते हैं और इन्हीं ऊतार चढाव मे कैसे संयम और संघर्ष के साथ सफलता प्राप्त की जाती हैं। 
जैसे की पुस्तक के सीर्षक (जीत आपकी You Can Win) से ही आपको अंदाजा लग रहा होगा कि ये किताब आपके लिए और आपके जीवन को सफल बनाने में कितनी कारगर साबित हो सकती है। इसमें इसके लेखक ने बहुत ही अच्छे तरीके से हमें हमारी सकारात्मकता सोच और नकारात्मक सोच का प्रभाव हमारे जीवन पर कैसे पड़ता है ये बताया है वो भी एक कहानीं के जरिए। मै कहना चाहूंगा कि आपको ये किताब जरूर पढ़नी चाहिए। क्योंकि किताब हमें जीवन मे आगे बढ़ने के लिए मार्गदर्शन देती हैं। कोई भी किताब आपको कुछ न कुछ जरूर सिखाती हैं और इस किताब में तो बहुत कुछ हैं सिखने के लिए। 


जीत आपकी किताब का सारांश:

जीत आपकी You Can Win किताब मे आपको मिलेगा कि एक आदमी जो मेले मे गुब्बारे बेचा करता है। उसका घर गुब्बारे के काम से ठीक ठाक चलता रहता है। मगर कभी कभी उसके गुब्बारे बिकने कम हो जाते है जैसे ही उसके गुब्बारे बिकने कम होते हैं वो एक गुब्बारे को हवा मे छोड देता है जिसे देखकर बच्चों मे गुब्बारे को खरीदने की उत्सुकता आती हैं और उसके गुब्बारे फिर से बिकने लग जाते हैं। एक बार एक बच्चा उसके पास आता है जो सवाल करता है कि अगर काले रंग के गुब्बारे को भी छोडे तो क्या वो भी हवा मे उसी तरह उडेगा जिस तरह बाकी गुब्बारे ऊपर उडते हैं। इस सवाल को सुनकर गुब्बारे बेचने वाला सोच मे पड जाता है और कुछ देर बाद जबाब देता है। कि बच्चे ऊपर उडने के लिए रंग मायने नहीं रखता। बल्कि मायने यह रखता है कि इसके अंदर क्या भरा हैं। इसके अंदर जो गैस भरी हैं वही इसको ऊपर उडाती हैं।

हमें ये किताब क्यों पढ़नी चाहिए?

कोई भी किताब हो उसे लेने से पहले हर किसी के मन मे सवाल उठता है कि क्या हमें इस किताब से कुछ मिलेगा या फिर बस टाईम पास ही होगा। जी हा बिल्कुल आपको जरूर सोचना चाहिए कि हमें ये किताब क्यों पढ़नी चाहिए। इस किताब में कुल ग्यारह Chapter हैं जो हमें अलग अलग तरीको से प्रभावित करते हैं। हमारी सोच को प्रभावित करते हैं।

मै आपको कुछ पाइंट बताना चाहता हूं जिन पाइंट की वजह से मुझे लगा हैं कि हा इस किताब मे कुछ हैं। इससें हमें बहुत कुछ सीखने को मिल सकता है। तो मैं इन पाइंट को बताना चाहता हूँ।

1. सोच का महत्व: ये किताब हमें बताती हैं कि हमारी सोच का हमारे आगे बढने मे कितना महत्व है। यदि इंसान की सोच ही छोटी हैं तो वो इंसान कभी बडा नहीं बन सकता।

2. समय का महत्व: हर काम को समय पर करने की आदत डालनी चाहिए। ये किताब हमें बताती हैं कि किस तरह वक्त की अहमियत हमारे जीवन मे है। और जो लोग वक्त की अहमियत को नही समझ पाते वो पीछे रह जाते है और जो लोग वक्त की अहमियत को समझते हैं वही लोग आगे निकल पाते हैं।

3. ज्ञान तब बढ़ता है जब इसका इस्तेमाल होता हैं वरना ज्ञान भी एक अज्ञानता ही हैं। कुछ करने से हमें हमें उसके बारे और अपने बारे मे पता चलता है कि हम कहां हैं और हमें कहां होना चाहिए।

4. और भी कई कहानियां हैं जो हमें अलग अलग तरह से कुछ न कुछ जरूर सीखाती हैं इसलिए मैं कहता हूँ कि ये बिल्कुल पैसा वसूल किताब है।


Overview Of This Book: 


इसकी ये कहानीं से मैने जो सिखा वो यह हैं कि हम बाहर से कैसे भी हो ये इतना महत्वपूर्ण नहीं है जितना कि हमारे अंदर आत्मविश्वास, हमारी सोच, हमारी लग्न ज्यादा महत्वपूर्ण है कि हम क्या कर सकते हैं। Legal Violation के कारण मैं आपको किताब की ज्यादा स्टोरी नहीं बता सकता। मगर इतना कहना चाहूंगा कि ये किताब अपने आप मे बहुत कुछ समेटे हुए हैं। आपको इस किताब को पढ़कर लगेगा कि क्या किताब हैं। मुझे तो ये किताब बहुत बहुत पसंद आयी। अगर आप भी चाहो तो इसे नीचे दिये गये लिंक से अभी घर बैठे खरीद सकते हैं।

पुस्तक के बारे मे:

शिव खेडा द्वारा लिखित बुक जीत आपकी You Can Win की लगभग 26 लाख कापियां 16 भाषाओं मे बीक चुकी है और यह किताब अब भी ट्रेडिंग मे बनी हुई है।

प्रकाशक: Bloomsbury Publishing India Private Limited; 2011th edition (1 January 2014)

पेज:  145 Pages

Related Post:




Post a comment

0 Comments