अपनी गलती को कभी भी छुपाना नही चाहिए|short motivational story in hindi

short motivational story in hindi

Best motivational story in hindi | motivational story in hindi | inspirational story | success story | short quotes | best motivational quotes | प्रेरणादायक कहानीयां

Best motivational story in hindi

यह कहानी है एक गलती करने वाले मैनेजर की


अपनी गलती को कभी भी छुपाना नही चाहिए



एक कम्पनी में बहुत सारे लोग काम करते थे जिनमे कम्पनी का मेनेजर भी था। सब कुछ ठीक चल रहा था कि कुछ दिनों बाद कर्मचारियों ने मैनेजर के खिलाफ आवाज उठानी शुरू कर दी कि इस मेनेजर को हटाओं और दूसरा मेनेजर आना चाहिए। मैनेजर को बुरा लगा लेकिन करता भी क्या मेनेजर ने इस्तीफा दिया और आफिस से बाहर जाने लगा इतने में कम्पनी का नया मेनेजर आफिस मे आया।

दोनों एक साथ मिले, जाने वाले मेनेजर ने नये  मेनेजर को दो लिफाफे दिये और कहा कि अगर आपको कम्पनी में कोई कठिनाई हो तो आप लिफाफा न. एक खोलना इससे कठिनाई का समाधान करने मे मदद मिलेगी। और अगर दोबारा कुछ ऐसा ही हो तो फिर लिफाफा न.2 खोलना जिसमे समाधान लिखा है। नये मेनेजर को कुछ समझ नहीं आ रहा था लेकिन लिफाफे रख लिए और अपने काम मे लग गया। कुछ दिनों तक सब कुछ ठीकठाक  रहा।

लेकिन बाद मे कम्पनी के कर्मचारियों ने फिर से मेनेजर को बदलने की बात रखी। मेनेजर परेशान होने लगा और उसे पुराने वाले मेनेजर के दिये हुए लिफाफे याद आये तो मेनेजर जल्दी से आफिस में गया और लिफाफा न.1 खोला जिसमें लिखा था जो कुछ भी गलत हुआ है उसका ईल्जाम पिछले वाले

पर लगा दो। मेनेजर ने ऐसा ही किया तो सभी कर्मचारी चुप हो गये। ओर सबकुछ ठीक हो गया। लेकिन कुछ दिनों बाद कर्मचारियों ने फिर से मेनेजर को बदलने की बात रखी। मेनेजर फिर से परेशान होने लगा ओर दूसरा लिफाफा भी खोल लिया सोचा इससे कुछ समाधान होगा। लिफाफा जेसे ही खोला उसमे लिखा था कि अब आपका समय समाप्त हो चुका है। अब कुछ नहीं हो सकता।अब आप भी नये मेनेजर के लिऐ दो ऐसे ही लिफाफे बनाये ओर आफिस छोड़ दें।

हमें इस छोटी सी कहानी से ये शिक्षा मिलती है कि हमे कभी भी अपनी गलतियों को छुपाना नही चाहिए। ब्लकि उसको सुधारना चाहिए अपनी गलतियों का इल्जाम किसी ओर पर नही लगाना चाहिए। नही तो आपका समय जल्दी ही समाप्त हो जायेगा।
 कैसी लगी ये कहानी कमेंट करके जरूर बताये ।
 धन्यवाद



इस कहानी को जरूर पढें-- जो भी करना है हमेशा अपना समझ कर करो

Post a comment

0 Comments