पति पत्नी के सच्चे प्यार की कहानीं | Pati Patni Ke Sacche Pyar Ki Kahani

No Comments
पति पत्नी का सच्चा प्यार कहानीं


पति पत्नी के सच्चे प्यार की कहानीं

पति पत्नी का सच्चा प्यार: पति पत्नी मे कभी न कभी लडाई हो ही जाती हैं जब शादी नई होती है सबकुछ ठीक रहता है लेकिन शादी के कुछ दिनो के बाद दोनो मे कुछ कहासुनी होनी शुरू हो जाती हैं ऐसा होते होते पता ही नहीं चलता कि कब बात इतनी बढ जाती हैं कि नौबत यहां तक आ जाती हैं कि दोनो एक दूसरे के साथ रहना भी पसंद नहीं करते और दोनो तलाक तक भी पहुंच जाते है। ये इसलिए होता है कि दोनो मे कही न कही कुछ Differences होते है जिन्हें दोनो मे से कोई भी नही बदलना चाहते और एक दूसरे पर Blame करते रहते है। एक दूसरे की गलतियों को ही गिनवाते रहते हैं यदि देखा जाये तो जब शादी होती हैं जब भी वो दोनो ऐसे ही होते है और जब शादी को कई साल बीत जाते हैं तब भी वो ऐसे ही होते हैं फिर दोनो मे इतनी अनबन क्यों होती हैं जो उनके जीवन को तबाह तक भी कर देती हैं। इसको अगर समझा जाये तो सबसे बड़ी बात यह है कि जब शादी नई होती हैं तो दोनो एक दूसरे के द्वारा बिताए खुशी के लम्हे को ज्यादा सोचते हैं इसलिए दोनो मे एक नया रिस्ता सा बना रहता है। लेकिन जैसे ही शादी पुरानी होती जाती है दोनो के ऊपर कुछ अलग अलग जिम्मेदारियां आ जाती हैं जिनसे वे दोनो अपने जीवन के सुन्दर पलो को भुल जाते हैं और फिर और ज्यादा दूरियां आ जाती हैं। इसलिए आपके भी अपने जीवनसाथी के साथ बहुत सी यादे होगी जो आपके जीवन की शायद सबसे सुन्दर यादे हो आप उनको याद करिए फिर देखना आपके रिस्ते मे कैसे एक नयी ताजगी आती हैं। इसी बात को समझने के लिए प्रस्तुत है एक छोटी सी कहानीं हैं। जिसको पढकर आप जरूर सोचने पर मजबूर होगें।

Pati Patni Ke Sacche Pyar Ki Kahani

एक मां जिसकी आज इकलौती बेटी की शादी है मां बेटी को Wedding Gift के तौर पर एक बैंक अकाउंट की पासबुक देती हैं तो बेटी अपनी मां से पूछती हैं कि ये क्या है। मां कहती हैं कि ये मेरी तरफ से एक छोटा सा Wedding तोहफा हैं ये बैंक अकाउंट की पासबुक हैं यह तुम्हारे जीवन के खुशी के लम्हों को संजोए रखेगी। आगे जब भी तुम दोनो की जिन्दगी मे  कोई खुशी का मौका आये तो अपनी तरफ से इसमे कुछ पैसे deposit करना जितनी बडी खुशी उतनी ज्यादा रकम और उसके आगे लिख भी देना कि आज ये खुशी का मौका हैं इसलिए इतने पैसे जमा किये हैं। आज मेरी बेटी की शादी है तो मेरे लिए भी खुशी का दिन हैं कि इसलिए मैंने भी इसमे एक हजार रुपये भी Deposit करा दिये हैं। और आगे Description मे लिख भी दिया है कि 'आज मेरी बेटी की शादी है इसलिए मैं एक हजार रुपये इसमें जमा करती हूं'। बेटी को अपनी मां का दिया गिफ्ट बहुत प्यारा लगा।

Hisband Wife Love Story In Hindi With Moral

Husband wife love quotes in hindi


बेटी ने घर जाने के बाद जब यह बात अपने पति से की तो पति को भी यह चींज बहुत अच्छी लगी और कहने लगा कि ये तो बहुत अच्छा तरीका है अपने जीवन के खुशी के लम्हों को फिर से याद करने का। दोनो अब इन्तजार ही कर रहे थे कि कब इसमे अगला Deposit हो। दोनो नये नये बहाने ढूढते थे पैसे जमा करने के कभी कि आज हम बाहर खाना खाने इसलिए 300 रूपये, आज पहली बार सांपिग करने गये इसलिए 500 रूपये, आज Husband का जन्मदिन है 800 रूपये, आज wife का जन्मदिन है इसलिए 800 रूपये, ऐसे करते करते उसमे Entries भी बढती गयी और  Amount भी और उसमे काफी पैसे इकट्ठा हो गये थे। शादी को कई साल बीत जाने के बाद दोनों मे कुछ दूरियां बढने लगी दोनो मे छोटी मोटी नोक छोक होनी शुरू हो गई थी फिर कुछ दिनो के बाद झगड़े होने लगे दोनो ने बात करना छोड दिया और एक दूसरे से खुश नही रहते थे। मां को अपनी बेटी से मुलाकात किये हुए काफी दिन हो चुके थे तो एक दिन मां अपनी बेटी से मिलने के लिए बेटी के घर गई तो बेटी कहने लगी कि मां मैं अब और इस शादी मे आगे अपना जीवन नही गुजार सकती। पता नही मैंने इतने दिन इसके साथ कैसे गुजार लिए अब मैं इस आदमी से Divorce चाहती हूं उधर पति भी कहने लगा कि मैं भी परेशान आ गया हूँ इसके साथ रहकर मै भी जीना नही चाहता तुम्हारे साथ मुझे भी Divorce चाहिए।

मां ने कहा ठीक है तुम दोनों अलग हो जाना लेकिन याद है मैंने तुम्हारी शादी के दिन तोहफे मे एक पासबुक दी थी। बेटी पासबुक निकालकर लाई तो उसमें देखा कि उसमे बहुत पैसे जमा है। मां ने कहा जब शादी इतनी ही बुरी थी तो पहले अपनी शादी से जुडी कोई याद भी अपने पास नही रखनी चाहिए पहले इसमे जमा रकम को खर्च करना होगा फिर तुम Divorce ले सकते हो। दोनो ने कहा ठीक हैं और अगले ही दिन बेटी पासबुक लेकर बैंक जाती हैं पैसे निकालने के लिए बैंक मे पैसे निकालने वालो की लाइन लगी थी तो बेटी भी लाइन मे खडी हो गयीं। अब खडे हुए काफी देर हो गयी थी बेटी ने खडे खडे ही पासबुक खोली और देखने लगी कि इसमे कब कब पैसे जमा किये थे बेटी देखते ही देखते उसे पता ही नही चला कि कब उसकी आखें भर आई अपने बीते लम्हों को याद करके जो उसने उसी पति के साथ बीताये थे जिसे वो आज Divorce देने चली थी। बेटी बिना पैसे निकाले वापिस घर आ गयी और अपने पति से कहने लगी कि ये मुझसे नही हो पाएगां ऐसा करो तुम ही जाकर इसमे जमा सारा पैसा खर्च कर दो। पति ने कहा ठीक है और पति बैंक गया लाइन मे खडा हो गया उसकी नजर भी पासबुक पर पडी और उन सारे खुशी के लम्हों पर पडी जो उसने अपनी उसी पत्नी के साथ बीताऐ थे जिसे वो आज तलाक देना चाहता है। अपने जीवन के सबसे हसीन लम्हों को याद करके पति की भी आखे भर आई और वो भी लाइन से निकल गया। पति घर आया और पासबुक अपनी पत्नी के हाथ मे दी तो पत्नी पासबुक मे देखती हैं कि उसमे आज ही के दिन पांच हजार रुपए जमा हुए हैं और उसके आगे लिखा है कि आज खुशी का दिन है कि मुझे एहसास हो चुका हैं कि वो उसे छोडने जा रहा था जिसे वो सबसे ज्यादा प्यार करता है। मैने फैसला कर लिया है कि अब बाकी की सारी जिन्दगी उसी के बिताना चाहता हूँ। यह देखकर दोनो की आखें भर आई और गले लगकर खुब रोये। और Promise किया कि अब वो कभी नही लडेंगे।

पति पत्नी का सच्चा प्यार moral story



यह कहानी उन सभी के लिए हैं जिनके रिस्तों के बीच मे दूरियाँ आ गयी है वो पहले आपस मे बहुत प्यार करते थे लेकिन अब वो एक दूसरे के साथ रहना पसंद नहीं करते। अगर आपके रिस्ते मे भी थोडी बहुत दरारें आ गयी हैं तो उन दरारों के भरने के लिए उन खुशी के लम्हों को याद करिए जो आपने एक दूसरे के साथ बीताऐ है। ये खुशी के पल आप दोनो मे नई Feelings भर देगें। और आप दोनो के रिस्ते मे नई जान आ जाऐगी। इसलिए किसी भी रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए अच्छे लम्हों को याद करना चाहिए बुरे लम्हों को नही।

आपको ये पति पत्नी के सच्चे प्यार की कहानीं कैसी लगी कमेंट करके बताए यदि कहानी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें

और ऐसी ही प्रेरणा से भरी कहानी को सबसे पहले अपने Email Box मे पाने के लिए आप Subscribe भी कर सकते है।
धन्यवाद!!

Related Posts:




0 comments

Post a comment